Latest News

18 Jul 2018

दिल्ली पुलिस ने पकड़ा 23 स्नैचिंग करने वाला झपटमार : नई दिल्ली


नई दिल्ली। साउथ दिल्ली के पांच थाना इलाकों में झपटमारी की 23 वारदातों को अंजाम देने वाले झपटमार को आखिरकार पकड़ लिया गया। इसका एक साथी अमित फरार होने में कामयाब हो गया। इसे पकड़ने के लिए पुलिस ने ऑपरेशन वाइट हाउस के तहत स्पेशल-146 का गठन किया। इसमें इन पांच पुलिस थानों से 146 पुलिसकर्मी शामिल किए गए। इन्हें पकड़ने के लिए पुलिस ने पहली बार वाट्सऐप ग्रुप बनाकर लाइव लोकेशन का इस्तेमाल किया।डीसीपी रोमिल बानिया ने बताया कि गिरफ्तार आरोपी का नाम विनीत वर्मा (26) है। इसे पकड़ने के लिए साउथ दिल्ली पुलिस की ओर से स्पेशल-146 का गठन किया गया था। महरौली थाने के एसएचओ अतुल कुमार इसे लीड कर रहे थे। इन आरोपियों ने स्नैचिंग की पहली वारदात 3 मार्च की शाम करीब 4 बजे साकेत थाना इलाके में की थी। इसके बाद से ये लगातार झपटमारी कर रहे थे। 
हर वारदात में सफेद रंग की एक अपाचे और इस पर सवार दो आरोपी सीसीटीवी फुटेज में आते थे। दोनों हेल्मेट पहने होते थे। इन्होंने लगातार 23 झपटमारी की वारदातों को अंजाम दे डाला था। मुख्य सड़कों से अलग हटकर यह लोग गांवों के अंदर भी जाकर झपटमारी कर रहे थे। साकेत थाने से शुरू होकर यह झपटमार मालवीय नगर, नेब सराय, महरौली और फतेहपुर बेरी थाना इलाकों तक में फैल गए थे। स्पेशल-146 का गठन किया गया। इसमें पुलिसकर्मी सादे कपड़ों में इन तमाम इलाकों में तैनात हो गए। अंत में इन्हें महरौली इलाके में पकड़ा गया। यहां एसआई राकेश कुमार, एएसआई जितेंद्र और सिपाही नवीन आदि ने इन्हें पकड़ लिया, हालांकि एक साथी भाग गया। स्पेशल-146 के लिए अलग से एक वॉट्सऐप ग्रुप बनाया गया। इसमें अलग से वायरलेस सेट दिए गए और सभी एक-दूसरे को वॉट्सऐप की लाइव लोकेशन पर फॉलो करते रहे ताकि जब भी यह आतंक मचाने वाले झपटमारों का पीछा करें या पकड़े, तब ग्रुप के अन्य सदस्यों को एक-दूसरे से संपर्क करने में समस्या ना हो और वह लाइव लोकेशन के जरिए मौके पर पहुंच सकें। डीसीपी रोमिल बानिया का कहना है कि इस तरह का यह पहला ऑपरेशन था। जब झपटमारों को पकड़ने के लिए इस तरह से वॉट्सऐप ग्रुप बनाकर इन्हें पकड़ा गया। 

No comments:

Post a Comment