Latest News

24 Jun 2018

सच होने ही वाला है देश को खुले में शौच से मुक्त कराने का सपना: प्रधानमंत्री


इंदौर। स्वच्छ भारत अभियान में आम लोगों की भागीदारी में इजाफे से प्रसन्न प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी ने आज कहा कि देश को खुले में शौच की प्रवृत्ति से मुक्त कराने का सपना हकीकत में तब्दील होने से अब ज्यादा दूर नहीं है। मोदी ने यहां "स्वच्छ सर्वेक्षण 2018" के विजेता शहरों को पुरस्कृत करने के दौरान कहा, "स्वच्छ भारत अभियान महात्मा गांधी का वह सपना है, जिसे पूरा करने का संकल्प 125 करोड़ भारतीयों ने लिया है। अगले वर्ष बापू की 150वीं जयंती है और (खुले में शौच से मुक्ति के जरिये) स्वच्छ भारत का सपना अब बहुत दूर नहीं है।" प्रधानमंत्री ने महात्मा गांधी की जयंती पर दो अक्तूबर 2014 को स्वच्छ भारत अभियान की शुरूआत की थी। साफ-सफाई की इस महत्वाकांक्षी मुहिम के तहत देश को दो अक्तूबर 2019 तक खुले में शौच की प्रवृत्ति से पूरी तरह मुक्त कराने के लक्ष्य तय किया गया है। मोदी ने बताया कि पिछले चार वर्षों में देश के शहरों और गांवों में कुल मिलाकर आठ करोड़ से ज्यादा शौचालय बनाये गये हैं। इस अवधि में देश के 18 राज्यों के 2,300 से ज्यादा शहर खुद को खुले में शौच से मुक्त घोषित कर चुके हैं।उन्होंने कहा कि देश में तीन साल पहले शुरू की गयी राष्ट्रीय स्वच्छता रैंकिंग के कारण शहरों में सकारात्मक प्रतिस्पर्धा की भावना विकसित हुई है और साफ-सफाई के अभियान में आम लोगों की भागीदारी लगातार बढ़ रही है।
प्रधानमंत्री ने 4,203 नगरों की भागीदारी वाले "स्वच्छ सर्वेक्षण 2018" के सभी विजेताओं को बधाई दी और कहा, "स्वच्छता एक दिन में नहीं आती। नागरिक 24 घंटे जागरूक रहते हैं, तब जाकर स्वच्छता की सिद्धि प्राप्त होती है।’’ मोदी ने राष्ट्रीय स्वच्छता रैकिंग में इंदौर के लगातार दूसरे साल अव्वल रहने पर करीब 35 लाख की आबादी वाले इस शहर के बाशिंदों को बधाई देते हुए कहा, "जो लोग स्वच्छ भारत अभियान का मजाक उड़ाते हुए कहते हैं कि देश में साफ-सफाई के मामले में परिवर्तन नहीं हो सकता, उन्हें इंदौरवासियों ने बदलाव का मतलब समझा दिया है।" "स्वच्छ सर्वेक्षण 2018" के पुरस्कार वितरण समारोह में लोकसभा अध्यक्ष और स्थानीय सांसद सुमित्रा महाजन, आवास एवं शहरी मामलों के केंद्रीय मंत्री हरदीप सिंह पुरी, मध्यप्रदेश की राज्यपाल आनंदी बेन पटेल, राज्य के मुख्यमंत्री शिवराज सिंह चौहान, प्रदेश की नगरीय प्रशासन और आवास मंत्री माया सिंह और इंदौर की महापौर मालिनी लक्ष्मण सिंह खासतौर पर मौजूद थीं।

No comments:

Post a Comment