Latest News

29 Jun 2018

शैलजा की हत्या में इस्तेमाल चाकू बरामद : नई दिल्ली


नई दिल्ली। शैलजा हत्याकांड की जांच में जुटी दिल्ली पुलिस के हाथ गुरुवार को बड़ी कामयाबी हाथ लगी। पुलिस ने रिमांड में चल रहे हत्या के आरोपी मेजर निखिल हांडा की निशानदेही पर वह चाकू बरामद कर लिया गया, जिससे उसने शैलजा का गला रेता था। जिस चाकू से शैलजा की हत्या की गई वह किचन में इस्तेमाल किया जाने वाला चाकू है। हांडा उसे अपनी कार में रखता था और अपने बेटे को फल काटकर देने के लिए उसका इस्तेमाल करता था।बुधवार को पुलिस हांडा मेरठ लेकर गी थी लेकिन वह पुलिस को बरगलाता रहा और कमजोर याददाश्त का नाटक करता रहा। 5 घंटे की खोजबीन के बाद भी पुलिस के हाथ हत्या में इस्तेमाल किया गया चाकू नहीं लग पाया था। बाद में गुरुवार को एनएच-58 टोल प्लाजा पर लगे सीसीटीवी कैमरा की फुटेज से मदद मिली और चाकू को बरामद कर लिया। सीसीटीवी फुटेज में हांडा की कार आधी रात 2 बजकर 12 मिनट परवहां से गुजरती दिखाई दी। करीब 2 बजकर 39 मिनट पर वही कार वहां से लौटती नजर आई। 
पुलिस ने जब हांडा से पूछा कि महज 27 मिनट में वह क्यों उसी रास्ते पर लौटता दिखा तो उसने कहा कि वह मेरठ का रास्ता भटक गया था। पुलिस को शक हुआ क्योंकि पहले मेरठ में उसकी पोस्टिंग रह चुकी थी। पुलिस आरोपी निखिल हांडा को मेरठ लेकर गई थी। इस दौरान पूरे रूट पर संभावित जगहों की छानबीन करते हुए सर्च ऑपरेशन चलाया गया। निखिल हांडा ने कपड़े और हथियार मेरठ रास्ते पर दौराला टोल से करीब 5 किलोमीटर आगे एक बाग में फेंक दिए थे। दिल्ली पुलिस निखिल हांडा को पटियाला हाउस कोर्ट पेश करेगी, क्योंकि उसकी चार दिन की रिमांड खत्म हो रही है। इससे पहले मंगलवार को पुलिस निखिल को उसके घर लेकर गई थी। वहां से उसे एक मोबाइल मिला था। पुलिस ने साइबर एक्सपर्ट की मदद से इसका लॉक खोलकर डेटा एक्सप्लोर किया था। केस की कड़ियों को जोड़ने में लगी पुलिस की टीम ने छावनी के बराड़ स्क्वायर पर भी सर्च ऑपरेशन चलाया था। यह वही दूसरा चाकू है, जो आरोपी मेजर निखिल हांडा ने हत्या के वक़्त इस्तेमाल किया था। इससे पहले पुलिस की टीम ने बुधवार को भी सुबह से शाम तक इस चाकू और अन्य सबूतों की तलाश की थी। करीब 2 किलोमीटर के दायरे में सबूतों की खोजबीन की गई।
पुलिस ने गुरुवार की सुबह मेरठ में भी क्राइम सीन रिक्रिएट कराया। पुलिस सूत्रों का कहना है कि इस्तेमाल चाकू इस केस की सबसे अहम कड़ी है। पुलिस के अनुसार, जिस जगह निखिल ने शैलजा की हत्या की, उससे वह पहले से अच्छी तरह परिचित था। उसके हर रास्ते को वह अच्छी तरह से जानता था। जांच में पता चला कि वह अपनी पटेल नगर वाली गर्लफ्रेंड से अकसर इसी जगह पर मुलाकात करता था। इसकी वजह से वह इस इलाके के चप्पे-चप्पे से वाकिफ था। शैलजा को भी वह वहीं लेकर गया था। वहां शैलजा के किसी भी कीमत पर उससे शादी के लिए तैयार न होने पर उसने उसका कत्ल कर दिया। 

No comments:

Post a Comment