Latest News

24 Jun 2018

लंदन में अपने जूलरी स्टोर के ठीक ऊपर फ्लैट में रह रहा था नीरव मोदी: रिपोर्ट


लंदन। देश छोड़कर भागे अरबपति कारोबारी नीरव मोदी तक पहुंचने के लिए भारतीय एजेंसियों ने कोशिशें तेज कर दी हैं। इस बीच उसके बारे में एक नई जानकारी सामने आई है। एक मीडिया रिपोर्ट में दावा किया गया है कि जब नीरव मोदी को भारत में ढूंढा जा रहा था उस समय वह लंदन में मेफेयर इलाके में स्थित अपने ही जूलरी स्टोर के ठीक ऊपर एक फ्लैट में आराम से रह रहा था। आपको बता दें कि नीरव मोदी पर 2 अरब डॉलर से ज्यादा की धांधली का आरोप है। फरवरी में भारत सरकार द्वारा पासपोर्ट रद्द किए जाने के बाद हीरा कारोबारी नीरव मोदी (47) कम से कम चार बार ब्रिटेन आया और बाहर गया। संडे टाइम्स की रिपोर्ट में रविवार को कहा गया कि लंदन में रुकने के दौरान वह कथिततौर पर शहर के बीचों बीच अपनी जूलरी शॉप के ठीक ऊपर बड़े आराम से रह रहा था। 'नीरव मोदी' नाम से यह शोरूम ओल्ड बॉन्ड स्ट्रीट पर है जो पिछले हफ्ते कथिततौर पर बंद हो गया। एक भारतीय अधिकारी के हवाले से अखबार की रिपोर्ट में कहा गया, 'वे आखिर लंदन ही क्यों आ रहे हैं। क्या UK ऐसे लोगों के लिए सुरक्षित पनाहगाह बन चुका है।' रिपोर्ट में आगाह किया गया कि नीरव मोदी ब्रिटेन को सुरक्षित ठिकाने के तौर पर इस्तेमाल कर रहा है, जिससे भारत और UK के बीच कूटनीतिक संबंध बिगड़ने का भी खतरा पैदा हो गया है जबकि पोस्ट-ब्रेग्जिट ट्रेड डील को लेकर अपार संभावनाएं हैं। 
आपको बता दें कि नीरव मोदी ने अपने ही नाम के ब्रैंड से मुंबई, हॉन्ग कॉन्ग, लंदन, न्यू यॉर्क और मकाऊ में बड़े स्टोर खोले थे। फोर्ब्स के मुताबिक 2017 में नीरव मोदी की कुल दौलत 180 करोड़ डॉलर (करीब 11, 700 करोड़ रुपए) थी। नीरव और उसके अंकल मेहुल चौकसी पर देश के दूसरे सबसे बड़े बैंक PNB के साथ बड़ा फ्रॉड करने का आरोप है।भारतीय कोर्ट की ओर से नीरव और चौकसी की गिरफ्तारी के लिए वॉरंट भी जारी हो चुका है। 23 फरवरी को मोदी का पासपोर्ट रद्द करने के बाद भारतीय अधिकारियों ने इंटरपोल और यूके सरकार से फौरन संपर्क किया था लेकिन रेकॉर्ड्स से पता चलता है कि जानकारी होने के बावजूद नीरव मार्च में यूके से दूसरे देशों में बेरोकटोक आता-जाता रहा। बाद में वह लंदन से पैरिस भाग गया। अखबार के मुताबिक 12 जून को नीरव लंदन से ब्रसल्ज चला गया। खबर है कि उसने यूके में शरण के लिए अर्जी भी दी है। 

No comments:

Post a Comment