Latest News

29 Jun 2018

कम्युनिस्ट पार्टी ने जनता की समस्याओं को लेकर जिला मुख्यालय में किया विरोध प्रदर्शन : जालौन


सन्तराम नीलांचल,(जालौन)। भारत की कम्युनिस्ट पार्टी (माक्र्सवादी) जनपद जालौन ने जिलाधिकारी कार्यालय में एक दिवसीय धरना प्रदर्शन किया। व जिलाधिकारी के माध्यम से राज्यपाल लखनऊ उत्तर प्रदेश को ज्ञापन भेजा।  इनकी प्रमुख माँगे- आंधी तूफान से प्रभावित इलाकों में जनता को राहत दी जाए मृतक के परिवार को 25 लाख का मुआवजा दिया जाए।बर्बाद फसलों तथा मकानों का मुआवजा दिया जाए।राशन, मनरेगा, वनाधिकार कानून,जंगल तथा जीवन से जुड़ी समस्याओं का जल्द से जल्द निदान किया जाए।गन्ना,गेहूं की समस्याएं बकाए की मांग तथा आवारा पशुओं सेफसल को बर्बादी से जल्द से जल्द बचाया जाए।
श्रम कानून का सख्ती से पालन कराया जाए न्यूनतम मजदूरी 18000रू प्रतिमाह तथा 45 वें श्रम सम्मेलन की सिफारिशों को लागू कराया जाए।जनता पेयजल संकट से जूझ रही हैं पेयजल समस्या को जल्द से जल्द ठीक कराया जाए।डीजल,पेट्रोल,गैस में हुई वृद्धि को जल्द से जल्द वापस लिया जाए।
भाजपा सरकार देश के युवाओं  की प्रति बर्ष में दो करोड़ रोजगार उपलब्ध कराने का वादा किया था।जो प्रतिवर्ष दो लाख रोजगार भी उपलब्ध नहीं करा पाई है।रोजगार की खोज में घूम रहे युवाओं पर लाठियां बरसाई जा रही है।77 प्रतिशत आबादी पर नियमित रोजगार नहीं है।जिसका जी0डी0पी0 तथा व्यापार पर प्रतिकूल असर पड़ रहा है।पिछले 4 सालों में एनडीए की मोदी सरकार को अच्छे दिन और सबका विकास के खोखले नारे के साथ सत्ता में आई उसका विकास चन्द चुने हुए कार्पोरेट और व्यापारिक घरानों तक ही सीमित रह गया है।
धरने में कमलाकांत वर्मा(का0 सचिव) कमलेश कुमार आचार्य, रमजानी(गायर),का0सकील मसूदी, चंदशेखर, शाहजाद मंसूरी(गायर) आदि शामिल रहे।

No comments:

Post a Comment