Latest News

21 Jun 2018

योगदान फाउंडेशन के तत्वावधान में भारतीय कवि सम्मेलन का किया गया आयोजन : झांसी


सत्यप्रकाश दुबे,(गुरसरांय,झांसी)।योगदान फाउंडेशन के तत्वावधान में नई बस्ती के राधकृष्ण मंदिर पर अखिल भारतीय कवि सम्मेलन में श्रोता देर रात तक झूमते रहे।दीप प्रज्वलन के बाद मुख्य अतिथि फाउंडेशन के अध्यक्ष सुशील गुप्ता ने कहा कि जन सेवा एवं देश के युवाओं को शत प्रेरणा के लिए संस्था कार्य कर रही है।वही विशिष्ट अतिथि योगदान फाउंडेशन के प्रबंधक बद्रीप्रसाद त्रिपाठी ने कहा कि अपने लिए सभी करते है लेकिन समाज के लिए जो करे वही वंदनीय है।उन्होने कहा कि आचरण वान व्यक्ति निर्भय हो जाता है।साथ ही उन्होंने जुलाई से फाउंडेशन की ओर से प्रत्येक गांव में वृक्षारोपण कराए जाने की बात कही।कार्यक्रम के विशिष्ट अतिथि पुलिस क्षेत्राधिकारी ने कविता के माध्यम से अपनी बात कही के हर आदमी के लव पे बस एक ही सवाल है कि कितना कमा रहा है कितना माल है।उन्होंने कहा युवाओं की सोच बदलनी चाहिए तभी एक स्वच्छ समाज एवं राष्ट्र का निर्माण होगा।
कवि सम्मेलन का शुभारंभ जालौन से पधारी कवियत्री सुश्री नीलम कश्यप की वाणी वंदना से हुआ।इसके बाद उन्होंने गज़ल झिझकना तुम्हारा शिकायत हमारी तुम्हे याद करना ये आदत हमारी पढ़कर वाहवाही लूटी।नगर के गजलकार विवेक वरसैया ने अपनी प्रस्तुति में रानी झाँसी पर कविता पढ़ते हुए कहा कि झाँसी ही आन वान है हिन्दोस्तान की झाँसी ही असली जान है हिन्दुस्तान की।की प्रस्तुति के बाद गजल  महफिलों में रौनक है उनके आने जाने से फूल मुस्कुराते है उनके मुस्कुराने से सुनाकर वाहवाही लूटी।जालौन से पधारे वरिष्ठ गीतकार डॉ रवींद्र शर्मा ने साहित्य की झड़ी लगते हुए कहा कि सभी के निवाले जो किसान देता है फांसी लगाकर जब जान देता है कैसी आफ़ते गरीबो को भगवान देता है।सुनाकर भरपूर तालियां बटोरी।बामौर से पधारे प्रसिद्ध व्यंगकार हरनाथ सिंह चौहान ने अपनी प्रस्तुति में  समाज एवं कानून व्यवस्था पर करारी चोट करते हुए कहा कि जब राजा धृतराष्ट्र गांधारी जैसे हो गए अव सुरक्षा करने वाले ही शिकारी हो गए।इसके बाद उन्होंने हास्य व्यंग्य के माध्यम से कई संदेश दिए।इसके अलावा ओज के कवि बीरेंद्र तिवारी उरई  बुंदेली कवि संतोष गजलकार ओमप्रकाश पंडा साहित्यकार एम एस तोमर हास्य कवि सुल्तानपुरी ने हास्य व्यंग्य ओज एवं श्रृंगार की रचनाओं के माध्यम से साहित्य की गंगा में अवगाहन कराया।
संचालन हरनाथ सिंह चौहान ने किया।अंत मे कार्यक्रम संयोजक पत्रकार अखिलेश तिवारी ने सभी के प्रति आभार व्यक्त किया।इस मौके पर व्यापार मण्डल के अध्यक्ष सतीश चौरसिया चंद्रप्रकाश चौरसिया अशोक सेन श्रद्धार्थ स्वामी रघुराज प्रसाद स्वर्णकार उरई सरजू शरण पाठक सत्यप्रकाश चतुर्वेदी वेदप्रकाश द्विबेदी संदीप श्रीवास्तव रविन्द्र गुप्ता गरौठा हरिश्चंद्र आर्य अलखप्रकाश नायक अशोक पटैरिया अवनीश देवलिया आदिउपस्थित रहे।

No comments:

Post a Comment