Latest News

21 Jun 2018

हापुड़ में घायल को पुलिस के सामने घसीटा, यूपी पुलिस ने मांगी माफी : उत्तर प्रदेश


हापुड़। उत्तर प्रदेश के हापुड़ जिले के पिलखुआ में गोकशी के आरोप के चलते कथित रूप से कासिम की हत्या के केस में पुलिस ने 32 लोगों के खिलाफ केस दर्ज किए हैं। वायरल हुई तस्वीरों में दिखाई दे रहे पुलिसवालों को भी पुलिस लाइन ट्रांसफर करके उनके खिलाफ जांच भी बिठा दी गई है। घटना में पुलिसवालों की तस्वीर सामने आने के बाद यूपी पुलिस ने ट्विटर के जरिये माफी भी मांगी है।इससे पहले वायरल तस्वीरों में देखा गया था कि कासिम को कई लोग घसीटते हुए ले आ रहे हैं और वहां मौजूद तीन पुलिसवाले कुछ भी नहीं कर रहे हैं। इस मामले पर जब यूपी पुलिस की जमकर आलोचना हुई तो यूपी पुलिस ने स्पष्टीकरण देते हुए ट्विटर पर ही माफी मांगी।यूपी पुलिस के डीजीपी मुख्यालय की ओर से लिखा गया, 'हम इस घटना के लिए माफी मांगते हैं। तस्वीर में दिखाई दे रहे तीनों पुलिसवालों को पुलिस लाइन ट्रांसफर कर दिया गया है और जांच की जा रही है। ऐसा लगता है कि तस्वीर तब ली गई जब पुलिस घटनास्थल पर पहुंची और घायल को गाड़ी तक ले जाने के ऐंबुलेंस ना होने के चलते इस तरह से ले जाया गया। हम स्वीकार करते हैं कि इन पुलिसकर्मियों को संवेदनशीलता दिखानी चाहिए थी। जान बचाने और कानून व्यवस्था बनाने की जल्दबाजी में मानवीय चिंताओं को नजरअंदाज किया गया। दूसरी तस्वीर से यह स्पष्ट है कि पीड़ित को यूपी-100 की गाड़ी से अस्पताल ले जाया गया।' बता दें कि कासिम की हत्या के बाद से गांव बझैड़ा खुर्द और मोहल्ला सद्दीकपुरा में तनाव का माहौल है। सुरक्षा के मद्देनजर भारी पुलिस बल तैनात किया गया है। इसके कारण मंगलवार को वहां पूरे दिन सन्नाटा पसरा रहा। पुलिस ने गांव के दो लोगों को हिरासत में लेकर कोर्ट में पेश किया, जहां से उन्हें जेल भेज दिया गया। सोमवार को मारपीट में घायल समयुद्दीन के भाई यासीन की ओर से बझैड़ा खुर्द गांव निवासी 30-32 अज्ञात लोगों के खिलाफ कोतवाली में रिपोर्ट दर्ज कराई गई थी। एएसपी राममोहन सिंह ने बताया कि गोकशी का मामला गलत है। मामूली बात पर दोनों पक्षों में विवाद हुआ था, जिसमें अत्यधिक पिटाई के कारण कासिम की इलाज के दौरान मौत हो गई थी। 

No comments:

Post a Comment