Latest News

13 Mar 2018

प्रधानमंत्री के ड्रीम प्रोजेक्ट को कासगंज में लग रहा है पलीता :लापरवाही


अमित तिवारी,(कासगंज)। "आओ एक कदम स्वच्छता की ओर बढ़ाएं" अपने अस्पताल परिषर में ही  कूड़े का ढेर लगवाए जी हां यह नजारा है कासगंज जनपद के सहावर सीएचसी का।जहां प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी के ड्रीम प्रोजेक्ट को पलीता लगता हुआ साफ नजर आ रहा ।एक तरफ देश के प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी और सूबे के मुख्यमंत्री योगिआदित्य नाथ स्वच्छ भारत अभियान चलाकर करोड़ो रुपये खर्च कर रहे है तो वही कासगंज जनपद में इस पर पलीता लगता हुआ नजर आ रहा है पूरा मामला कासगंज जनपद के सहावर सीएचसी का है।जहां स्वच्छता तो कही दिख ही नही रही है जगह-जगह गंदगी का अंबार लगा हुआ,कूड़े के ढेर सजे हुए,मामला कूड़े के ढेर तक ही सीमित नही है साहब,सहावर सीएचसी की हालत ऐसी भी है कि जिस महिला वार्ड में महिला एडमिट होकर बेड पर  लेटती है उस बेड की चादरें खून से लथपथ पड़ी हुई है। क्या यही है स्वच्छ भारत अभियान,अगर यही स्वच्छ भारत अभियान है तो फिर क्यों अपने अस्पताल परिषर में लिख रखा है बड़े बड़े अक्षरों में *आयो एक कदम बढाये,नगर को स्वच्छ व सुंदर बनाए* क्यों करोड़ो खर्च कर रही है सरकार क्यों सफाई व्यवस्था बनाये रखने में सहयोग मांगने के लिए करोड़ो के विज्ञापन क्यों किये जाते है।वही जब ऐस इस मामले पर वहां तैनात डॉक्टर प्रवीण श्रीवास्तव से बात की गई तो डॉक्टर साहब ने बड़ी आसानी से कह दिया इसमे हमारी कोई गलती नही है।इसमे गलती जिस सफाई वाले पर ठेका है उसकी गलती,आखिर डॉक्टर साहब यह भी बता दिया होता जब उस सफाई वाले ठेकेदार की गलती है तो उसका ठेका भी तो उच्च अधिकारियों से कह कर निरस्त भी किया जा सकता है आपका क्या साहब आप तो चैंबर में बैठे है उस गंदगी के पास तो वो आम जनता भटक रही है जो आपके अस्पताल में मरीज बनकर आई है।जिसे आप सलाह देते है गंदगी से दूर रहे खुला खाना न खाए ज्यादा देर खुला रखा पानी न पिएं यह सब बीमारी के लक्षण होते है जिसमे गंदगी चली जाती है और फिर आप उस खाने को खा लेते है या खुला पानी पी लेते है जिसके कारण आप बीमार पड़ सकते है।लेकिन डॉक्टर साहब वो आम जनता आपके पास आज मरीज बनकर दवाई लेने आई है क्योंकि वो बीमार है उसके साथ आने वाले तीमारदारों की भी कमी नही है आपके अस्पताल में फैली इस गन्दगी के कारण कही कल वो तीमारदार ही आपके कैबिन में आपके पास मरीज बनकर ना आजये डॉक्टर साहब जो आपके अस्पताल में तीमारदार बनकर बीते एक दिन पूर्व आया था ।आखिर इस हालत को सुधरवाईये जनपद कासगंज के सीएमओ साहब अस्पताल परिषर में सजे कूड़े के ढेर को हटवाइये।महिला वार्ड में बेड पर खून से लथपथ पड़ी चादरें हटवाइये।चौक पड़े शौचलयों को खुलवाईये।आपके अस्पताल परिषर में ही साहब आम जनता शौचलय में जाना पसंद नही करती क्योंकि वो चौक पड़े हुए है किसी का उस ओर कोई ध्यान नही।अगर सफाई वाले ठेकेदार की कमी है तो क्यों नही किया जाता उसका ठेका निरस्त जो इस तरह की कमी कर रहा है या यह मान लिया जाए साहब आप साहब लोगों की मोटी कमीशनखोरी का खामियाजा आम जनता को भुगतना पड़ रहा है।

No comments:

Post a Comment