Latest News

Photo
Video News

Gallery

Video

Games

Recent Posts

14 Apr 2019

कागज मांगने पर दारोगा से भिड़े युवक, हाथापाई होने पर जुटी भीड़

फर्रुखाबाद। मऊदरवाजा थाना क्षेत्र के गुरुगांव देवी मंदिर में तैनात दारोगा से बाइक सवार युवकों ने कागज मांगने पर अभद्रता कर दी। बात बढ़ी तो युवक की दारोगा से गुत्थम-गुत्था होने लगी। पुलिस ने युवकों को पकड़ने की कोशिश की तो एक युवक मौके से भाग निकला। अर्रा आवाजपुर गांव निवासी एक युवक बाइक से रिश्तेदार के साथ गुरुगांव देवी मंदिर आए थे। यहां सुरक्षा व्यवस्था में लगे दारोगा कौशलेंद्र गौतम ने बाइक सवार युवकों से मोटरसाइकिल के कागज मांगे तो पीछे बैठे साथी ने दारोगा से अभद्रता कर दी। 
इस पर एसआइ ने दोनों को रोक लिया तो एक युवक ने मोबाइल निकाला और रिकार्डिंग करते हुए दारोगा से कहा, 'अब बताओ तुम मेरा क्या करोगे'। दारोगा ने विरोध किया तो वह भिड़ गया और दोनों में गुत्थमगुत्था होने लगी। इस पर दूसरे दारोगा डीसी कुमार भी फोर्स के साथ पहुंचे। तभी मौका पाकर एक युवक भाग निकला। पुलिस दूसरे युवक को पकड़कर थाने ले गई।

मैनपुरी में आखिर कब लगेगा मनमानी पर अंकुश

मैनपुरी। इस शहर में न तो सीएम के आदेश मायने रखते हैं और न ही डीएम के निर्देश। सख्त आदेश हैं कि सार्वजनिक स्थानों पर कूडे़ के ढेर को जलाया नहीं जाए। बावजूद इसके शहर के कचहरी रोड पर शनिवार दोपहर घंटे भर तक कचरे का ढेर धू-धू कर जलता रहा। जिला अस्पताल के बाहर भरी दोपहरी सड़क किनारे लगी कूडे़ की यह आग किसी भी अधिकारी को नजर नहीं आई।कुछ दिन पहले जिलाधिकारी पीके उपाध्याय ने कचहरी रोड का भ्रमण कर सुबह नौ बजे तक कचरे का उठान कराने के निर्देश पालिका प्रशासन को दिए थे, लेकिन व्यवस्था न बदली। शनिवार दोपहर लगभग एक बजे जिला अस्पताल के दूसरे गेट के बाहर सड़क किनारे कचरे का ढेर लगा रहा। समय पर इसका उठान नहीं हुआ। दोपहर में एक सफाईकर्मी ने इस कूडे़ में आग लगा दी। लगभग घंटे भर तक कचरे का यह ढेर जलता रहा। धुआं और लपटों की गर्मी से आसपास से गुजरने वाले लोगों को काफी परेशानियों का सामना करना पड़ा। पॉलीथिन के साथ जलता रहा मेडिकल वेस्ट कचहरी रोड पर बड़ी संख्या में नर्सिंग होम, पैथोलॉजी और मेडिकल स्टोर संचालित हैं।
नियम है कि ये अपना मेडिकल वेस्ट सार्वजनिक जगहों पर नहीं फेंक सकते। बावजूद इसके जिला चिकित्सालय के दूसरे गेट पर ग्लब्स, कॉटन, बेंडेज, प्लास्टर, खून से सने हुए कॉटन, सिरिज, नीडिल के अलावा दूसरे प्रकार के प्रतिबंधित मेडिकल वेस्ट यहां लगातार फेंके जा रहे हैं। शनिवार को कूडे़ में लगी आग में प्रतिबंधित मेडिकल वेस्ट के साथ पॉलीथिन, डिस्पोजेबल, कॉर्टन और दूसरे प्रकार का कूड़ा भी जलता रहा। कुछ यूं होती रही कार्रवाई शासन से व्यवस्था को अमल में लाने का जिम्मा जिलाधिकारी को सौंपा गया। जिलाधिकारी ने शहर की जिम्मेदारी अधिशासी अधिकारी नगर पालिका को सौंप दी। अधिशासी अधिकारी ने इस काम के लिए सफाई इंस्पेक्टर को कहा। सफाई इंस्पेक्टरों ने सफाई नायक से, सफाई नायकों ने सफाई कर्मचारियों से कह दिया। कुछ ऐसा ही स्वास्थ्य विभाग में भी रहा। मेडिकल वेस्ट के लिए सीएमओ ने एसीएमओ से, एसीएमओ ने क्लर्क से, क्लर्क ने दूसरे कर्मचारियों से कहकर पल्ला झाड़ लिया और कार्रवाई की सूचना संबंधित संस्थाओं तक पहुंची ही नहीं। 

बिजली के तार से निकली चिगारी से तेरह बीघा गेहूं की फसल जल कर राख

दादरी। जारचा क्षेत्र के गांव सिलारपुर में रविवार को बिजली की तार टूटकर गेहूं के खेत में गिर गई। जिसकी चिगारी से तेरह बीघा गेहूं की फसल जल कर राख हो गई। सूचना पर पहुंची दमकल गाड़ी व ग्रामीणों ने घंटों मशक्कत कर आग पर काबू पाया। सिलारपुर गांव के गुलावठी-सिलारपुर मार्ग पर रामभूल, मुनेश, सतीश, कुमरपाल का खेत है। रविवार शाम तीन बजे के करीब खेतों के ऊपर से जा रही बिजली की 11 हजार वोल्ट की तार हवा चलने पर आपस में छू गए। जिससे निकली चिगारी से तार में आग लग गई। आग लगने के तुरंत बाद बिजली की तार खेत में गिर पड़ी। पलक झपकते ही आग बेकाबू हो गई। आग की तेज लपटे देखकर गांव के लोग मौके पर पहुंचे व खेत मालिक को घटना की सूचना दी। वहीं करीब 45 मिनट बाद सूचना पर दमकल गाड़ी पहुंची। इस बीच लोगों ने विभिन्न तरीकों से पानी डाला, लेकिन आग पर काबू पाने तक करीब 13 बीघा खेत पर लगी गेहूं की फसल जलकर नष्ट हो गई। ग्रामीणों का आरोप है कि खेतों पर गुजर रही बिजली की लाईन बिल्कुल जर्जर हो चुकी है और तार टूट कर खेतों मे अक्सर गिरते रहते हैं। इसकी शिकायत कई बार एनपीसीएल विभाग के अधिकारियों से की, लेकिन कोई कार्यवाई नहीं हुई।

बेटी के लिवर को दान कर पिता ने पेश की मिशाल, दो लोगों को मिली नई जिंदगी

नई दिल्ली। अपोलो अस्पताल में दिमागी रूप से मृत महिला के पिता ने बेटी के लिवर को दान कर दो लोगों की जान बचाकर मिसाल पेश की हैं। संध्या(32) का इलाज अपोलो अस्पताल में पिछले कई दिनों से चल रहा था, लेकिन करीब एक हफ्ते पहले डॉक्टरों ने बताया कि उनका ब्रेन डेड हो चुका है। इसके बाद संध्या के पिता जय भगवान जाटव ने डॉक्टरों की सहमति से अपनी बेटी के लिवर को दान करने का फैसला लिया।
जय भगवान को कई लोगों ने अंग दान करने से मना किया। लेकिन, उन्होंने कहा कि उनकी बेटी लोगों की मदद को हमेशा तैयार रहती थी। ऐसे में यदि वह बोल पाती तो वह भी शायद अंगदान करने को ही कहती। बृहस्पतिवार को डॉक्टरों ने संध्या का लिवर महाराष्ट्र व असम के दो लोगों में ट्रांसप्लांट कर दिया। डाक्टरों ने मरीजों की पहचान छिपाते हुए बताया कि उनकी उम्र 45 व 49 वर्ष है।संध्या अपने परिवार के साथ सफदरजंग एन्क्लेव में रहती थीं। उन्होने 2008 में लेडी श्री राम कॉलेज से स्नातक करने के बाद एमिटी कॉलेज से यात्र और पर्यटन में डिग्री ली। इसके बाद अपने घर के बाहर ही एक टूर एंड ट्रैवल्स एजेंसी खोल ली। 2014 में उन्हे किडनी में संक्रमण हो गया। जिसका इलाज चल रहा था । 18 मार्च को उनकी तबीयत खराब होने के कारण उन्हे अपोलो अस्पताल में भर्ती करवाया गया। डाक्टरों ने बताया कि उनकी दोनों किडनी खराब हो चुकी हैं। हालत इतनी खराब थी कि उन्हे एक हफ्ते में तीन बार डायलिसिस पर रखा जा रहा था। पिछले हफ्ते डाक्टरों ने उन्हे दिमागी रूप मृत घोषित कर दिया था।
संध्या के पिता जय भगवान जाटव ने कहा कि लोगों को अंधविश्वास पर भरोसा न करके एक-दूसरे की मदद को आगे आना चाहिए। हम सभी का खून एक जैसा है। जिनको मेरी बेटी का अंग प्रत्यारोपित किया गया उनको मैंने देखा तक नहीं। यह भी नहीं पता किया कि वे किस जाति-धर्म के हैं। मैंने सिर्फ इंसानियत के नाते उनकी मदद की है।बिना किसी भेदभाव के सबको अंग दान करना चाहिए, ताकि हमारे ही भाई-बहनों की जिंदगी संवर सके। इसमें कोई बुराई नही है। मेरी बेटी के दोस्तों ने भी किसी गुरु की बातों में आकर उसे सही करने की कोशिश की, लेकिन वह ठीक नहीं हुई। इसलिए हमें अंधविश्वास पर नहीं, विज्ञान पर भरोसा करना चाहिए। हमारी एक पहल कई लोगों की जिंदगी बदल सकती है।

घूमने के बहाने युवक को घर से बुलाकर रास्ते में ले ली जान

नई दिल्ली।  दिल्ली के ललित होटल के पास रंजीत सिंह फ्लाई ओवर पर एक सफेद रंग की क्रेटा कार में करीब 20 साल के सलमान नामक युवक की हत्या कर दी गई। पुलिस के मुताबिक सलमान सोहैल और एक अन्य लड़का क्रेटा कार मे इंडिया गेट घूमने निकले थे। जिसके बाद रंजीत सिंह फ्लाई ओवर पर सलमान को गाड़ी में ही दो गोली मारी गई। जिस हथियार से गोली मारी गई वो अवैध हथियार था।
सलमान के परिजनों के मुताबिक बाकी दो लड़के सलमान को घर से बुलाकर ले गए थे। सलमान अपनी गाड़ी से आरोपितों के साथ गया था। दोनों लड़कों ने रंजीत सिंह फ्लाई ओवर पर सलमान को गोली मार दी। पुलिस का कहना है कि हत्या में इस्तेमाल गाड़ी को बरामद कर लिया गया है।  सलमान की हत्या क्यों की गई अभी तक इसकी जानकारी नहीं मिल पायी है। फिलहाल दोनों आरोपितों को हिरासत में लेकर पूछताछ की जा रही है।
इससे पहले अप्रैल के पहले सप्ताह में दिल्ली के कृष्णानगर इलाके में सरेराह युवक की हत्या कर दी गई थी। छह बदमाशों ने यहां सरफराज (30) नामक युवक को गली में घेरकर गोलियों से भून दिया। इस दौरान आसपास से गुजर रहे लोग भाग गए। गोलियों की तड़तड़ाहट से पुलिस भी बेखबर रही। पूरी वारदात गली में लगे सीसीटीवी कैमरे में कैद हो गई थी।बता दें कि दिल्ली में छोटी-छोटी बातों पर लोग अपना आपा खोते जा रहे हैं। इसके उदाहरण वहीं मार्च के अंतिम सप्ताह में रोहिणी, मानसरोवर पार्क और दयालुपर इलाके में सामने आया था। रोहिणी इलाके में देर रात स्कूटी सवार बदमाशों ने गाली देने का विरोध करने पर युवक की चाकू मार कर हत्या कर दी और मौके से फरार हो गए।
वहीं एक अन्य मामले में पूर्वी दिल्ली के मानसरोवर पार्क इलाके में कार सही से चलाने के लिए कहने पर गुस्से में आए युवक ने हवा में दो राउंड गोलियां चला दीं। गनीमत यह रही कि गोली किसी को लगी नही। वहीं दयालपुर इलाके में कार ठीक से चलाने के लिए कहने पर चालक ने छात्र का सिर फोड़ दिया।

मण्डलायुक्त ने घाटमपुर के पोलिंग बूथों का किया निरीक्षण

अनूप मिश्रा,(कानपुर)। कानपुर-मण्डल के प्रत्येक पोलिंग बूथ पर पर्याप्त छाया, पानी, दिव्यांगो के लिए रैम्प, क्रेच (शिशुगृह) की व्यवस्था अवश्य रहनी चाहिये। बी०एल०ओ० अपना सक्रिय योगदान दें ताकि मतदान के दिन किसी भी प्रकार की समस्या न आने पाये कानपुर मण्डल की जनता को आगे आ कर वोट प्रतिशत कम से कम 75 प्रतिशत तो करना ही चाहिए। तेज धूप के कारण भी लोग अपने घरों से नहीं निकल रहे है लेकिन अपना मतदान करने के लिए उन्हें पोलिंग बूथ आकर इस महापर्व में हिस्सा लेना चाहिये।
उक्त अभिव्यक्ति मण्डलायुक्त सुभाष चन्द शर्मा ने आज घाटमपुर के पोलिंग बूथों के निरीक्षण में दिये। उन्होने पूर्व माध्यमिक विद्यालय पड़री लालपुर में 02 बूथ, प्राथमिक विद्यालय कोरों में 03 बूथ, प्राथमिक विद्यालय कटरी में 02 बूथ, प्राथमिक विद्यालय काटर में 02 बूथ, कै० सुखवासी सिंह जनता इन्टर कालेज, घाटमपुर में 06 पोलिंग बूथों का निरीक्षण किया और वहां पर मतदान की व्यवस्थाओं को चेक किया और व्यवस्थाएं ठीक पायी गयीं। इसके साथ ही नौबस्ता गल्ला मण्डी स्थित ई०वी०एम० स्ट्रांग रूम और मतगणना स्थल का भी निरीक्षण किया। उन्होंने अधिकारियों को निर्देशित किया कि वह यह सुनिश्चित करें कि चुनाव आयोग के आदेशों को गम्भीरता से लें और उनका पालन करें और कराये।
मण्डलायुक्त द्वारा खाद्य एवं रसद विभाग द्वारा क्रियान्वित नौबस्ता मण्डी में गेहूँ क्रय केन्द्र का भी निरीक्षण किया और मण्डी के नाप-तौल को भी देखा वहां पर उन्होने पाया कि अतिक्रमण अधिक है इस पर मण्डी अधिकारियों पर नाराज़गी व्यक्त की और निर्देशित किया कि पन्द्रह दिन के अन्दर अतिक्रमण हट जाना चाहिये।

जिला निर्वाचन अधिकारी ने संवेदनशील बूथों का किया निरीक्षण

अनूप मिश्रा,(कानपुर)। समस्त मतदान केंद्रों में बिजली , पेयजल दिव्यंगजनों के लिए रैम्प तथा आवश्यकतानुसार धूप से बचलने लिए छाया की व्यवस्था समय से पूर्ण कर लिया जाये। समस्त एआरओ अपने अपने क्षेत्रों के केन्द्रो के  बूथों में जिनमें रैम्प कार्य किया जा रहा है उसको भी देख ले ताकि मतदान वाले दिन कोई समस्या न रहें जो रैम्प बनाये जा रहे है वे गुणवत्तापूर्ण रहे इस बात का भी विशेष ध्यान रहें।मिश्रित आबादी वाले क्षेत्रों के मतदान केंद्रों में जहां पूर्व में छूट पुट घटनाएं हुई थी उन मतदान केंद्रों को भी संवेदनसील मानते हुए विशेष सुरक्षा व्यवस्था की जाये ताकि कोई घटना न हो सके मतदान शान्ति पूर्वक सम्पन्न करना है इसके लिए दबंगो तथा अपराधियों पर नजर रखते हुए प्रभावी कार्यवाही की जाये।उक्त निर्देश आज जिला निर्वाचन अधिकारी / जिलाधिकारी श्री विजय विश्वास पन्त ने संवेदनशील अतिसंवेदनशील बूथों के निरीक्षण के दौरान सम्बन्धित थानाध्यक्षों तथा अपर नगर मजिस्ट्रेटों को दिये।
उन्होंने समस्त सम्बन्धित  एआरओ नगर मजिस्ट्रेटों को निर्देशित करते हुए कहा कि अपने अपने क्षेत्रों में मतदान केंद्रों का दोबारा निरीक्षण कर समस्त व्यवस्था एं  जैसे दिव्यंगजनों के लिए  रैम्प ,पेयजल व्यवस्था ,बिजली तथा समस्त मतदान कक्षों में पंखे आदि अवश्य लगे हो इस बात का विशेष ध्यान रखते हुए समस्त जो भी कमियां रह गयी हो उन्हें पूर्ण कराना सुनिश्चित कर ले । उन्होंने  साथ ही समस्त विधानसभाओ में  आदर्श बनाने के लिए निर्देशित किया ।उन्होंने निर्देश देते हुए कहा कि समस्त बूथों में संवेदनशील अतिसंवेदनशील बूथों में विशेष सुरक्षा व्यवस्था की जाये जिनमें पिछले मतदानो में छूट पुट घटनाएं हुई थी उनकी भी सूची रहे उसी के हिसाब से विशेष सुरक्षा व्यवस्था की जाये ।अभी दिव्यंगजनों की सूची उनके मोबाइल नम्बर के साथ समस्त सुपरवाइजर के पास रहे ताकि उनको मतदान केंद्रों तक लाने में कोई समस्या न रहें। निरीक्षण के दौरान उन्होंने बाबूपुरवा , नयागंज , चमनगंज आदि मतदान केंद्रों को देखा।निरीक्षण में मुख्य विकास अधिकारी श्री अक्षय त्रिपाठी , अपर जिलाधिकारी श्री विवेक श्रीवास्तव, नगर मजिस्ट्रेट द्वितीय तथा नगर मजिस्ट्रेट चतुर्थ उपस्थित थी।