Latest News

Photo
Video News

Gallery

Video

Games

Recent Posts

24 May 2018

आमाडांड ओसीपी में 1 टन से अधिक चोरी के कोयले को किया जब्त : अनूपपुर


सुमिता शर्मा,(अनूपपुर)। आमाडांड ओसीपी के सुरक्षा प्रभारी के निर्देशन मे 23 मई की सुबह लगभग 6 बजे राघवेन्द्र, चन्द्रिका प्रसाद मिश्रा द्वारा आसामजिक तत्वो द्वारा चोरी कर एकत्रित किया 1 टन से अधिक कोयला के स्टॉक को अलग-अलग स्थानो से जब्त कर कॉलरी प्रबंधन के सुपुर्द किया गया। विदित हो कि कालरी क्षेत्र से प्रतिदिन आसपास के क्षेत्र में निवास करने वाले आसामजिक तत्वो द्वारा गिरोह बनाकर कोयला चोरी की घटना को अंजाम देते है। जिसके तहत कार्यवाही की गई।

कांग्रेसियों ने पेट्रोल मूल्य वृद्धि का किया विरोध : झाँसी


गिरजाशंकर राय,(झाँसी)। पूर्व केंद्रीय मंत्री प्रदीप जैन "आदित्य" के नेतृत्व में कांग्रेसी नेहरू चतुष्पथ पर एकत्रित हुए। केंद्र सरकार द्वारा पेट्रोल मूल्य वृद्धि पर अंकुश न लगा पाने का कांग्रेसियों ने विरोध किया। प्रदीप जैन ने केंद्र सरकार को वादा खिलाफी करने वाला बताया। अंतर्राष्ट्रीय बाज़ार में सस्ता पेट्रोल होने के बावजूद देश में डीज़ल-पेट्रोल को महंगा बेचना आम आदमी पर चोट है। कीओस्क और बैनर के माध्यम से कांग्रेसियों ने प्रतीकात्मक विरोध दर्ज कराया। इस दौरान शहर अध्यक्ष इम्तियाज़ हुसैन, एस. नोमान, अरविन्द बबलू, राहुल गुप्ता, अरविन्द वशिष्ठ, मनोज गुप्ता, अफ़ज़ाल हुसैन, अनिल बट्टा, कुणाल सूरी, अमीर चन्द्र, इब्राहिम शेख, आफताब खान, सौरभ यादव, दीपक कुशवाहा, शिवकुमार, अब्दुल जाबिर आदि मौजूद रहे।

आग से जलकर माँ दो बच्चो सहित तीन की मौत : फतेहपुर


अमित कुमार सिंह,(फतेहपुर)। रात को सोते समय संदिग्ध परीस्थितयो लगी आग से माँ ,बेटा, व बेटी की जल कर मौत हो गयी। आग कैसे लगी इसका अभी कोई कारण सामने नहीं आया है। पुलिस ने मौके पर पहोच कर  शवो को अपने कब्जे में लेकर पोस्टमार्टम के लिए भेजा दिया  है
उत्तर प्रदेश फतेहपुर जिले के खखरेरू थाना क्षेत्र के परवेजपुर गाँव निवासी नरेश की माने तो अढैया गाँव के हुबलाल की पुत्री कविता की शादी 1 1 वर्ष पूर्व  नरेश के साथ हुई थी। दोनों खुशहाल जीवन ब्यतीत कर करे थे। बीती रात्रि रात्रि का खाना साथ खा पीकर अलग अलग सोने चले गए। परिवार के सभी सदस्य सो रहे थे आग की लपट  से उसकी माँ की आँख खुली तो माँ ने बताया की घर में आग लगी है। जब देखा तो हमारी निगाह दरवाजे पर पड़ी रोज़ तो दरवाजा खुला रहता था मगर आज दरवाजा बंद था। दरवाजा तोड़कर लड़का लड़की सब को बहार निकाला। पत्नी और बच्चो को बचाने की  कोशिश किया मगर कामयाबी नहीं मिली। उसकी पत्नी कविता सहित 6 वर्षिय पुत्र कार्तिक व 8 माह की अबोध पुत्री आग की चपेट में आने से तीनो की जलकर मौत हो गई। आग कब और कैसे लगी उसको कुछ नहीं पता।वही नरेश की माँ गीता देवी से जब मिडिया ने जानकारी लिया तो दोनों के बयान में भिंता  पाई गई।माँ ने बताया की आग लगने की जानकारी गाँव वालो से हुई। वही मृतिका कविता  के पति नरेश का कहना है की लपटों से माँ की आँख खुली तो माँ ने बताया।मामला कुछ भी हो मगर कविता और दोनों बच्चो की मौत अपने पीछे कई सवाल छोड़ गई। उधर पुलिस ने हृदय विदारक घटना होने के बाद मां बच्चों के शव को कब्जे में लेकर पोस्टमार्टम के लिए भेजा दिया। वही पुलिस अधीक्षक राहुल राज ने बताया की खखरेरू थाना क्षेत्र के परवेजपुर गाँव में एक तीस वर्ष महिला और उसके दो बच्चो के जलने से मौत का मामला सामने आया है। हमने मौके का भी दौरा किया है वहाँ के आस पास के लोगो का भी बयान  लिया है। जैसा की उसके पति और लोगो ने बयान दिया है उससे यह प्रतीत होता है की महिला ने आत्म हत्या की है। पति और आस पास के लोगो ने बचाने का प्रयास किया है दुर्भाग्य से उसकी मृत्यु हो गई है। अभी तक मायके पक्ष से कोई तहरीर नहीं मिली है अगर कोई तहरीर आती है तो उस पर भी बिधिक कार्यवाई की जाएगी।  

बदमाशों का कहर जारी- नौ लोग घायल : कासगंज


अमित तिवारी,(कासगंज)। बीते एक माह से जनपद कासगंज की अवाम रात को ठीक से वेफिक्र चैन की एक नींद भी नहीं ले पा रही है... इसकी वजह हर रात बदमाशों की दहशत भरी आहट है जिसने लोगों का अमन और सुकून पूरी तरह से छीन लिया है। बीती रात सहावर व् अमांपुर थाना क्षेत्रों में कई अज्ञात गिरोह बंद बदमाशों ने ग्रामीणों पर अपना कहर बरपाया है।
बुधवार बीती रात सहावर के ग्राम नाथूपुर स्थित एक बाग़ में मधुमक्खी पालन कर रहे चार लोगों पर कुछ अज्ञात गिरोहबंद बदमाशों ने अचानक हमला कर दिया जिसमें चार लोग वीरेंद्र अवतार नरेश हरविलास व् पूरन गंभीर रूप से घायल हो गए... बदमाशों ने उक्त सभी पीड़ितों से अलग अलग कुल तेरह सौ की नकदी व् मोबाइल भी लूट लिए। वहीँ बुधवार बीती रात अमांपुर के ग्राम मुंडा में छत पर सो रहे परिवारीजनों पर अचानक कुछ अज्ञात गिरोहबंद बदमाशों ने सारियां व् डंडों से हमला कर दिया जिसमें चार लोग रक्षपाल चंद्रपाल आरती व् भारती को गंभीर चोटें आयीं हैं... चीख पुकार होने पर बदमाश अँधेरे का लाभ उठाकर फरार हो गए। 

देश भर के बैंक कर्मचारी 30 मई से करेंगे दो दिन की हड़ताल : मुंबई


मुंबई। सार्वजनिक क्षेत्र के बैंकों के कर्मचारियों तथा अधिकारियों ने 30 मई से दो दिन की हड़ताल की घोषणा की है। हड़ताल का आह्वान भारतीय बैंक संघ (आईबीए) की वेतन में केवल दो प्रतिशत की वृद्धि के विरोध में किया गया है। वेतन वृद्धि को लेकर पांच मई 2018 को हुई बैठक में आईबीए ने दो प्रतिशत वृद्धि की पेशकश की। बैठक में यह भी कहा गया कि अधिकारियों की मांग पर बातचीत केवल स्केल तीन तक के अधिकारियों तक सीमित होगी।यूनाइटेड फोरम और बैंक यूनियन्स के संयोजक देवीदास तुलजापुरकर ने यहां संवाददाताओं से कहा, ''यह एनपीए के एवज में किये गये प्रावधान के कारण है जिससे बैंकों को नुकसान हुआ और इसके लिये कोई बैंक कर्मचारी जिम्मेदार नहीं है।’’ उन्होंने कहा कि पिछले दो-तीन साल में बैंक कर्मचारियों ने जन-धन, नोटबंदी, मुद्रा तथा अटल पेंशन योजना समेत सरकार की प्रमुख योजनाओं को लागू करने के लिये दिन-रात काम किये। तुलजापुरकर ने कहा, ''इन सबसे उन पर काम का काफी बोझ बढ़ा।’’ बैंक कर्मचारियों के पिछली वेतन समीक्षा में 15 प्रतिशत की वृद्धि की गयी थी। यह वेतन समीक्षा एक नवंबर 2012 से 31 अक्तूबर 2017 के लिये था। यूएफबीयू नौ श्रमिक संगठनों का निकाय है। इसमें आल इंडिया बैंक आफिसर्स कान्फेडरेशन (एआईबीओसी), आल इंडिया बैंक एम्प्लायज एसोसिएशन (एआईबीईए) तथा नेशनल आर्गनाइजेशन आफ बैंक वर्कर्स (एनओबीडब्ल्यू) शामिल हैं।

परीक्षा केंद्र से बरामद हुईं 200 किलो के वजन की नकल की पर्चियां : गुजरात


अहमदाबाद। नकल के लिए बनाई गई पर्चियों का भी वजन हो सकता है। वह भी 1-2 नहीं बल्कि पूरे 200 किलो। दरअसल गुजरात माध्यमिक और उच्च माध्यमिक शिक्षा बोर्ड (जीएसएचईबी) के अधिकारियों ने एक परीक्षा केंद्र से एग्जाम में नकल के लिए बनाई गई 200 किलो की सामग्री जब्त की। आशंका है कि इन्हें जूनागढ़ के वंथली कस्बे स्थित एक एग्जाम सेंटर में कक्षा बारहवीं की विज्ञान परीक्षा में नकल के उद्देश्य से बनाया गया था।बोर्ड के अधिकारियों को इन नकल सामग्री को पैक करने के लिए 20 बोरियां मंगानी पड़ी। इन चीटिंग मटीरियल में ज्यादातर आंसर्स की माइक्रो साइज फोटोकॉपी थीं। बुधवार को गुजरात बोर्ड की परीक्षा समिति की सुनवाई के दौरान मामले का पर्दाफाश हुआ। इसके बाद मामले को गंभीर बताते हुए एग्जाम सेंटर के कोऑर्डिनेटर और निरीक्षकों के खिलाफ समन भेजने का फैसला लिया गया। 
बोर्ड के उपाध्यक्ष एनसी शाह ने कहा, 'हमने 15 स्टूडेंट्स को समन भेजा है जिन्होंने कथित तौर पर नकल की और अब हम 31 मई को सुपरवाइजर और सेंटर कोऑर्डिनेटर को समन भेजेंगे।' जूनागढ़ के जिला शिक्षा अधिकारी (डीईओ) बीएस केला ने इस घटना की पुष्टि करते हुए कहा, 'हमें स्वामीनारायण गुरुकुल एग्जाम सेंटर में हुई परीक्षा में अनियमितताओं की काफी शिकायतें मिली थीं। हम 14 मार्च को वहां पहुंचे, उस दौरान 10वीं की परीक्षा होने वाली थी। हमने पाया कि वहां सड़कें छोटी सफेद पर्चियों से भरी हुई हैं जो कि स्टूडेंट्स के द्वारा फेंकी हुई नकल सामग्री थी।' केला ने आगे बताया, 'इसको संज्ञान में लेते हुए हमने कक्षा 12वीं के छात्रों को पर्ची या किसी दूसरे कॉपी मटीरियल को जमा करने की कड़ी चेतावनी दी। हमने केमिस्ट्री के एग्जाम से पहले कम से कम स्टूडेंट्स को चेतावनी दी और प्रत्येक चेतावनी के बाद छात्रों ने बोर्ड अधिकारियों को कॉपी मटीरियल सौंपा। एग्जाम के दौरान हमने छात्रों की तलाशी ली तो 15 छात्रों के पास से नकल करने वाली चिट मिली।' उन्होंने आगे कहा, 'हमने 15 छात्रों के खिलाफ नकल करने का मामला दर्ज किया है और छात्रों द्वारा जमा किए गए और बोर्ड अधिकारियों को मिली नकल करने की सामग्री की जांच की जिसकी मात्रा 200 किलो निकली।' 

बैल के पेट से निकला 85 किलो प्लास्टिक : महाराष्ट्र


पुणे। महाराष्ट्र सरकार ने भले ही प्लास्टिक बैग्स पर बैन लगा दिया हो लेकिन अभी भी आम लोगों द्वारा इस्तेमाल प्लास्टिक बैग्स यूं ही सड़कों पर पड़े रहते हैं और जानवर इसे निगल रहे हैं। पिछले महीने पिंपरी-चिंचवाड़ से लाए गए एक बैल के पेट में 85 किलोग्राम प्लास्टिक मिला है। बैल को बचा तो लिया गया, लेकिन ऐनिमल ऐक्टिविस्ट्स के मुताबिक जानवरों के सिर से खतरा टला नहीं है।ऐक्टिविस्ट्स का दावा है कि बीफ बैन के बाद से जानवरों की ऐसी ही हालत है। किसान पहले जरूरत के बाद जानवरों को बेच देते थे। उनका ध्यान रखा जाता था। अब कोई उन्हें खरीदता नहीं। ऐसे में वे भटकते हैं।
पिंपरी से बताए गए बैल के पेट से न सिर्फ प्लास्टिक बल्कि मेटल, कीलें, स्क्रू और कांच तक निकला। उसे परेशान होता देख आसपास के लोगों ने वॉलंटिअर्स को बुलाया था, जिनकी मदद से ढाई घंटे की सर्जरी के बाद उसके पेट से ये सब निकला।डॉक्टरों के मुताबिक जिस हालत में उसके पेट में प्लास्टिक मिला है, उससे पता चलता है कि वह पिछले 6-7 साल से प्लास्टिक खा रहा है। उसके अंगों पर पड़ते दबाव के कारण वह ठीक से खड़ा भी नहीं हो पा रहा था। 
डॉक्टरों ने बताया है कि बीफ बैन के बाद से ऐसे मामलों की संख्या बढ़ गई है। उनका कहना है कि बीफ बैन लगाने से जानवरों को बूचड़खाने में मरने से तो बचा लिया गया लेकिन इस तरह उनकी जिंदगी और भी बदतर हो गई है। हर महीने करीब 5 केस उनके पास आते हैं। उन्होंने 2016 में 148 जानवरों का इलाज किया, जबकि 2017 में 246 जानवरों का।